Gwalior Times Live Gwalior ग्वालियर टाइम्स लाइव

शनिवार, 28 अगस्त 2021

प्रधानमंत्री उज्जवला योजना 2.0 अन्तर्गत निर्धन परिवारो को निःशुल्क गैस कनेक्षन प्रदाय करने के संबंध में दिशा निर्देश जारी

 भिण्ड 28अगस्त 2021 । प्रधानमंत्री उज्जवला योजना 2.0 दिनांक 07 सितम्बर 2021 को पूरे प्रदेश में समारोह पूर्वक लॉन्च की जाना प्रस्तावित है। इस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान उपस्थित रहेगे तथा प्रधानमंत्री जी की वर्चुअली जुड़ने की संभावना है। कार्यक्रम का प्रसारण पूरे राज्य में किया जायेगा 07 सितम्बर 2021 से पूर्व प्रदेश में 6 लाख हितग्राहियों के KYC क्लियर कर e-KYC  उपरांत गैस कनेक्शन जारी किये जायेंगे इन उपभोक्ताओं को समारोह/कार्यक्रम के दौरान एवं उसके उपरांत गैस कनेक्शन प्रदाय किये जायेगे। उक्त कार्यवाही हेतु कलेक्टर डॉ सतीष कुमार एस ने मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत भिण्ड एवं परियोजना अधिकारी शहरी विकास अभिकरण भिण्ड को पत्र जारी कर निर्देशानुसार कार्यवाही करने के निर्देश दिए है।

   निर्देशानुसार जिले में वितरकों के पास पूर्व से जमा KYC एवं नवीन आवेदनों की सतत रूप से समीक्षा कर प्रत्येक आवेदनकर्ता परिवार से आवश्यक दस्तावेज जमा कराये जाकर वितरक के स्तर से KYC क्लियर की जायेगी। KYC क्लियर होने के उपरांत वितरक के स्तर से ही आवेदनकर्ता से बायोमेट्रिक सत्यापन अथवा OTP के माध्यम से e-KYC  करायी जायेगी। इस हेतु समस्त वितरकों के पास बायोमेट्रिक डिवाइस उपलब्ध है। OTP के माध्यम से e-KYC  किये जाने हेतु आवेदनकर्ता के आधार नंबर में उसका सही मोबाईल नंबर दर्ज होना आवश्यक है आधार नंबर में सही मोबाईल नंबर का अपडेशन आधार की वेबसाईट uidai.gov.in  पर किया जा सकता है अथवा आधार सेन्टर, कॉमन सर्विस सेन्टर (CSC) एमपी ऑनलाइन कियोस्क आदि के माध्यम से कराया जा सकता है।
   आवेदनकर्ता हितग्राहियों के e-KYC  कराने हेतु ग्राम पंचायत/वार्ड स्तर पर आवश्यक सहयोग करने हेतु नगरीय निकाय, ग्राम पंचायत एवं ग्रामीण विकास, राजस्व एवं खाद्य विभाग के अधिकारियों की ड्यूटी लगाई जाये। स्थानीय उचित मूल्य दुकान के विक्रेताओं को उपरोक्त कार्य संयोजित किया जाये। जिला स्तर पर पदस्थ कंपनी के नोडल अधिकारी एवं जिला आपूर्ति नियंत्रक/ अधिकारी यह सुनिश्चित करेगे कि हितग्राहियों को गैस कनेक्शन प्रदाय करने हेतु पर्याप्त मात्रा में ऐसेसरीज (गैस सिलेण्डर गैस चूल्हा, रेग्यूलेटर, सुरक्षा पाईप आदि) उपलब्ध हो। जिला स्तर पर पदस्थ कंपनी के नोडल अधिकारी योजना के संबंध में पात्रता आवश्यक दस्तावेज, आवेदन कहा जमा कराना है। योजना की जानकारी हेतु प्रेस विज्ञप्ति जारी कराई जाये एवं इलेक्ट्रोनिक मीडिया के माध्यम से योजना का पर्याप्त प्रचार-प्रसार कराना सुनिश्चित किया जाये।
   कंपनी के जिला नोडल अधिकारी आवेदन पत्र प्रारूप/ 14 विन्दुओं का घोषणा पत्र की पर्याप्त कॉपी जिला आपूर्ति अधिकारी को उपलब्ध करायेगे, जिला आपूर्ति नियंत्रक/ अधिकारी उचित मूल्य दुकान के माध्यम से प्रत्येक ग्राम पंचायत/वार्ड स्तर पर ऐसे आवेदन पत्रों की प्रति संधारित करेगें एवं पात्र हितग्राही से भरे हुए आवेदन एकत्रित कर संबंधित गैस वितरक के पास जमा करायेगे।
   कंपनी के अधिकारी द्वारा अवगत कराया गया है कि योजना के प्रचार-प्रसार के संबंध में स्थानीय स्तर पर आवेदन भरवाने e-KYC  के लिये केम्पों का आयोजन किया जा रहा है इन केम्पों की सूचना जिला नोडल अधिकारी द्वारा जिला आपूर्ति अधिकारी को दी जायेगी, ताकि अधिक से अधिक संख्या में हितग्राहियों को योजना की जानकारी दी जा सके। योजना के संबंध में NIC भोपाल के स्तर से पंजीकृत उपभोक्ताओं को  SMS  के माध्यम से भी अवगत कराया जायेगा। जिला स्तर पर क्लियर KYC एवं e-KYC  की प्रतिदिन की रिपोर्ट जिला नोडल अधिकारी के माध्यम से संबंधित कंपनी के समन्वयक समस्त कंपनियों की प्रतिदिन की रिपोर्ट एकजाई कर जिला कार्यालय को प्रेषित करेगे।

बैंकर्स आपदा की घडी में बिना विलम्ब के प्रकरण स्वीकृत कर वितरण करें-कलेक्टर श्योपुर


 
कलेक्टर शिवम वर्मा ने कहा है कि श्योपुर जिले में अगस्त माह के प्रथम सप्ताह के दौरान अतिवृष्टि और बाढ़ से कई परिवार पीडित हुए है। जिनकों इस आपदा की घडी में बिना विलम्ब के प्रकरण स्वीकृत कर शीघ्र वितरण करने की कार्यवाही करे। जिससे हितग्राही प्राप्त किये गये ऋण से अपनी आजीविका चलाने में सहायक बन सकें। वे आज विभिन्न योजनाओ के अंतर्गत हितग्राहियों को लाभ दिलाने की दिशा में कलेक्टर कार्यालय के सभागार में आयोजित बैंकर्स की बैठक को संबोधित कर रहे थे।

    बैठक में सीईओ जिला पंचायत श्री राजेश शुक्ल, अपर कलेक्टर श्री टीएन सिंह, एसडीएम श्री विनोद सिंह, एलडीएम श्री योगेन्द्र सिंह, डीपीएम एनआरएलएम श्री सोहनकृष्ण मुदगल, जीएसडीआईसी श्री एसआर चौबे, सहायक संचाकल उद्यान श्री पंकज शर्मा, सीएमओ नगरीय निकाय श्योपुर श्री बीडी कतरोलिया, बडौदा श्री ताराचंद धूलिया अन्य विभागीय अधिकारी और विभिन्न बैंको के जिला स्तरीय शाखा प्रबंधक उपस्थित थे।
    कलेक्टर श्री शिवम वर्मा ने कहा कि आपदा के कारण शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में कई परिवारों को क्षति पहुंची है। ऐसी स्थिति में जिन-जिन बैंको में हितग्राही मूलक योजना के अंतर्गत लक्ष्य दिये गये है। उनमें स्वीकृति जारी कर प्रकरण में हितग्राही को शीघ्र ऋण राशि प्रदान करने की कार्यवाही सुनिश्चित करें। उन्होने कहा कि शहरी क्षेत्रो में मुख्यमंत्री पथ विक्रेता योजना में 10 हजार रूपयें का ऋण देने के लिए हितग्राहियों के प्रकरण बैंको के अंदर लबिंत पडे है। उनमें तत्काल स्वीकृति जारी कर हितग्राहियों को यूनिट से संबंधित लोन उपलब्ध कराया जावे। जिससे हितग्राही अपना कारोबार प्रारंभ कर आर्थिक स्थिति सुधारने में सक्षम बन सकें। उन्होने कहा कि जिन बैंको द्वारा हितग्राही मूलक योजना के लक्ष्यपूर्ति में टारगेट को पूरा किया है। ऐसे बैंकर्स बधाई के पात्र है।
    कलेक्टर ने कहा कि हितग्राही मूलक योजना के अंतर्गत श्योपुर जिला विगत वर्ष प्रदेश के जिलों में टॉप 03 में पहुंच गया था। इस व्यवस्था को इस वित्तीय वर्ष में भी लागू रखा जावे। जिससे यह जिला प्रथम श्रेणी में आकर नाम रोशन करेगा। उन्होने कहा कि बैंकर्स भी श्योपुर जिलें में रहकर यहां की मूलभूत सुविधाओं से बाखिफ है। इसलिए बिना विलम्ब के विभिन्न विभागो के प्रस्तुत किये गये प्रकरणों में हितग्राहियों को लाभ पहुंचाये। उन्होने कहा कि स्वसहायता समूह की महिला, दीदी अपने-अपने क्षेत्र में अच्छा काम रही है। उनके सम्मान को कायम रखने के लिए बैंक में लगाये गये प्रकरणों में मदद की जावे। साथ ही बैंक में आने पर उनका सम्मान किया जावे।
    कलेक्टर श्री शिवम वर्मा ने कहा कि प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के अंतर्गत सभी बैंकर्स लंबित प्रकरणों का निराकरण करते हुए येाजना से संबंधित व्यक्तियों को लाभ पहुंचाये। जिससे आपदा की इस घडी में हितग्राही लाभान्वित होकर अपने परिवार की आजीविका चलाने में सक्षम बन सकें। उन्होने कहा कि विभागीय अधिकारियों द्वारा जिन-जिन बैंको में टारगेट दिये गये है। उन टारगेटों में शत प्रतिशत ऋण वितरण की कार्यवाही की जावे।
    उन्होने कहा कि केन्द्र और राज्य सरकार अतिवृष्टि एवं बाढ़ आपदा में पीडित परिवारों को मदद पहुंचाने की दिशा में सहायता राशि पहुंचाने की दिशा में कदम उठा रही है। इसी प्रकार सभी बैंको के शाखा प्रबंधक आत्मनिर्भर भारत की दिशा में एक जिला-एक उत्पाद के प्रकरणों में स्वीकृति प्रदान करें। जिससे हितग्राही विकास की दिशा में निंरतर प्रगति की ओर रफ्तार बढा सकें। उन्होने कहा कि आजीविका मिशन के माध्यम से 930 प्रकरण 55 करोड़ रूपयें के बैंको की विभिन्न शाखाओ में लगाये गये है। जिनमें से 38 करोड रूपयें की स्वीकृति बैंकर्स द्वारा जारी की गई है। उनमें राशि वितरण करने की कार्यवाही की जावे।
    बैठक में सीईओ जिला पंचायत श्री राजेश शुक्ल द्वारा ग्रामीण विकास और आजीविका मिशन के माध्यम से कई प्रकरण बैंको में प्रस्तुत किये गये है। इन प्रकरणों में दिये गये टारगेट के अनुसार वितरण की कार्यवाही शीघ्र की जावे। बैठक में डीपीएम आजीविका मिशन श्री सोहनकृष्ण मुदगल, महाप्रबंधक उद्योग श्री एसआर चौबें, सीएमओ नगपालिका श्योपुर श्री बीडी कतरोलिया एवं बडौदा श्री ताराचंद धूलिया ने विभिन्न बैंको में हितग्राही मूलक योजनाओ के प्रस्तुत प्रकरणों की जानकारी दी।  

वरिष्ठ नागरिकों की सहायता हेतु राष्ट्रीय हेल्पलाईन 14567 स्थापित

 मुरैना 28 अगस्त 2021 ।  यदि कोई वरिष्ठ नागरिक बेघर अवस्था में हो अथवा उनके साथ दुर्वव्यवहार हो रहा है तो टोल फ्री नंबर 14567 पर कॉल कर सूचित करें ताकि वरिष्ठ नागरिकों को सुरक्षा एवं आवश्यक सेवाएं तथा उनकी देखभाल की जा सकें। कोई वरिष्ठ नागरिक बेघर अवस्था में हो अथवा उनके साथ दुर्व्यवहार हो रहा है तो टोल फ्री नंबर 14567 पर कॉल करें, जिससे वरिष्ठ नागरिकों को सुरक्षा एवं आवश्यक सेवाएं तथा उनकी देखभाल की जा सकें। साथ ही ऐल्डर हेल्पलाईन नंबर 14567 का अधिक से अधिक प्रचार-प्रसार करें। 

शत-प्रतिशत टीकाकरण कराने वाली सर्वाधिक ग्राम पंचायतों के मामले में जबलपुर प्रदेश में अव्वल

 शत-प्रतिशत टीकाकरण कराने वाली ग्राम पंचायतों की संख्या के मामले में जबलपुर जिला प्रदेश में अव्वल है। अब तक जबलपुर की रिकार्ड 123 ग्राम पंचायतों की सौ-फीसदी आबादी को कोरोना का टीका लग चुका है।

    मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी हाल ही में जबलपुर जिले की शत-प्रतिशत टीकाकरण कराने वाली ग्राम पंचायतों को प्रशस्ति पत्र प्रदान कर सम्मानित किया है। उन्होंने सौ-फीसदी टीकाकरण कराने वाली ग्राम पंचायतों की न केवल हौसला अफजाई की बल्कि अन्य पंचायतों को इनका अनुसरण करने की बात कही।
    जिले की सौ-फीसदी वैक्सीनेटेड ग्राम पंचायतों में विकासखण्ड पनागर की 18 ग्राम पंचायत, जबलपुर की 11, कुण्डम की 10, शहपुरा की 9, मझौली की 24, पाटन की 28 ग्राम पंचायत और विकासखण्ड सिहोरा की 23 ग्राम पंचायतें शामिल हैं। कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने इस सभी पंचायतों के ग्रामीणों को इस विशिष्ट उपलब्धि के लिये बधाई दी है।
    गुरूवार को जिले की सौ-फीसदी वैक्सीनेटेड होने वाली ग्राम पंचायतों में जबलपुर की 5, पनागर की 9, मझौली की 4, कुण्डम की दो, सिहोरा की 7 और पाटन विकासखण्ड की 22 ग्राम पंचायतें शामिल हैं। इनको मिलाकर अब जिले की कुल 123 ग्राम पंचायतों की शत-प्रतिशत आबादी को टीका लग गया है।
     विकासखण्ड पाटन की ग्राम पंचायत बिनैकी के 937 व्यक्तियों को, ग्राम पंचायत डुंगरिया के 1362 व्यक्तियों को, ग्राम पंचायत तमोरिया के 1175 व्यक्तियों को, ग्राम पंचायत घटेरा के 1034 व्यक्तियों को, ग्राम पंचायत जरोंद के 997 व्यक्तियों को, ग्राम पंचायत करारी मनकवारा के 1198 लोगों को, ग्राम पंचायत मुर्रई के 1137 व्यक्तियों को, ग्राम पंचायत खमोंद के 1521 व्यक्तियों को, ग्राम पंचायत ग्वारी के 1426 लोगों को, ग्राम पंचायत मादा के 1428 व्यक्तियों को, ग्राम पंचायत कैथरा के 1109 लोगों को, ग्राम पंचायत सहसन पड़रिया के 1030 व्यक्तियों को , ग्राम पंचायत गनियारी के 932 लोगों को, ग्राम पंचायत सरौंद के 1181 व्यक्तियों को, ग्राम पंचायत दिघौरा के 1073 व्यक्तियों को, ग्राम पंचायत पौड़ी छपरी के 1413 व्यक्तियों को , ग्राम पंचायत गुरूपिपरिया के 980 व्यक्तियों को, ग्राम पंचायत पाटन के 1956 व्यक्तियों को और विकासखण्ड शहपुरा की ग्राम पंचायत पिपरिया कनवास के 1439 व्यक्तियों को टीका लग चुका है।
    इन सभी पंचायतों में टीकाकरण के लिये शेष लोगों में गर्भवती, मृत व्यक्ति और ग्राम से बाहर निवासरत लोग शामिल हैं। संबंधित ग्राम पंचायतों ने स्वयं शत-प्रतिशत वैक्सीनेशन का प्रमाण पत्र भी जारी कर दिया है।

दक्षता बढ़ाने के लिये विद्युत कंपनी के 15 जिलों के बिजली अधिकारियों को दिया जा रहा है ऑनलाइन प्रशिक्षण


इन्दौर | 27-अगस्त-2021
      मध्यप्रदेश पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के प्रबंध निदेशक श्री अमित तोमर के निर्देश एवं मुख्य महाप्रबंधक श्री संतोष टैगोर के मार्गदर्शन में अधिकारियों की रिफ्रेशर ट्रेनिंग हो रही है। आन लाइन ट्रेनिंग में 15 जिलों के अधिकारी सहभागी रूप में शामिल हो रहे है। ट्रेनिंग 30 सितंबर तक चलेगी।
      मध्यप्रदेश पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के संयुक्त सचिव श्री तरूण उपाध्याय ने बताया कि मानव संसाधन से जुड़े अधिकारियों की रिफ्रेशर ट्रेनिंग में सुबह विषय विशेषज्ञों की ओर से उद्बोधन दिया जा रहा है, प्रश्नोत्तरी के माध्यम से ट्रेनिंग लेने वालों की शंकाओं व जिज्ञासाओं का भी तुरंत समाधान किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि मुख्य रूप से ईआरपी, सेवानिवृत्ति, आउट सोर्स कर्मियों संबंधी, स्टोर,  रिवाल्विंग फंड, विद्युत दर, इलेक्ट्रिकल इंफ्रास्टक्टर, बकाया राशि वसूली के लिए जब्ती, कुर्की, कार्यालय संरचना और कार्मियों के हितलाभ, वेतनमान, चिकित्सा भत्ते, साधारण अवकाश व संतान पालन अवधि अवकाश, कर्मचारी बीमा संबंधी अधिनियम,  अनुशासनात्मक कार्रवाई, संविदा एवं अनुकंपा नियुक्ति आदि विषयों पर जानकारी दी जा रही है। संयुक्त सचिव श्री उपाध्याय ने बताया कि इस ट्रेनिंग का उद्देश्य अधिकारियों की कार्यक्षमता बढ़ाना एवं उन्होंने उपरोक्त विषयांतर्गत निपुणता प्रदान करना है, ताकि नई जिम्मेदारियों के समय उन्हें कार्य में आसानी हो। गुरूवार के ट्रेनिंग सत्र का संचालन श्रीमती सपना दामेशा ने किया। आभार माना श्रीमती रीना चौधरी ने।

कमलाराजा कन्या महाविद्यालय में विधि भवन प्रारंभ , देश में सबसे पहले हमने लागू की नई शिक्षा नीति - मंत्री यादव

 

शासकीय कमला राजा कन्या स्नातकोत्तर स्वशासी महाविद्यालय में जनभागीदारी मद से नवनिर्मित विधि भवन का लोकार्पण कार्यक्रम प्रदेश शासन के उच्च शिक्षा मंत्री डॉ मोहन यादव के मुख्य आतिथ्य,सांसद ग्वालियर श्री विवेक नारायण शेजवलकर की अध्यक्षता में सम्पन्न हुआ। इस अवसर पर महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. एमआर कौशल, जनप्रतिनिधि, विद्यार्थी परिषद के सदस्य, महाविद्यालय के प्राध्यापक एवं छात्रायें उपस्थित थे।
इस मौक़े पर प्रदेश शासन के उच्च शिक्षा मंत्री डॉ मोहन यादव ने अपने उदबोधन में कहा कि आज इस नवनिर्मित विधि भवन के लोकार्पण से हमारी बेटियों को ओर सुविधा मिलेगी , वे यहाँ विधि विषय की पढ़ाई कर परिवार,प्रदेश एवं देश का नाम रोशन करेंगी। मंत्री श्री यादव ने कहा कि देश में सबसे पहले हमने मध्य प्रदेश में नई शिक्षा नीति को लागू किया, इसके अंतर्गत 177 प्रकार के नए विषय है जो रोज़गार हेतु विद्यार्थियों को तैयार करेंगे। मंत्री श्री यादव ने कहा कि यह युग ज्ञान का युग है, इसलिए महाविद्यालय में विभिन्न प्रकार के ज्ञानवर्धक सम्मेलनो का आयोजन किया जाये, जिससे विद्यार्थियों को नई विधाओं को जानने का मौक़ा मिले। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण के कारण पठन-पाठन में हमने काफ़ी समस्यायों का सामना किया ,लेकिन इसके बावजूद भी हमने एक नए एवं सुरक्षित तरीक़े से परीक्षाओं को सम्पन्न कराया।मंत्री श्री यादव ने  महाविद्यालय के प्राचार्य सहित सभी प्राध्यापकों को नैक की ग्रेडिंग के लिए पूर्व से तैयारी करने को कहा,उन्होंने कहाँ की तैयारी अच्छे से रखे जिससे आपके महाविद्यालय को बेहतर नैक ग्रेडिंग प्राप्त हो।
कार्यक्रम को संवोधित करते हुए सांसद ग्वालियर श्री विवेक नारायण शेजवलकर ने कहा कि कमला राजा महाविद्यालय ग्वालियर ही नही बल्कि प्रदेश का सबसे बड़ा एवं सर्वाधिक संख्या वाला कन्या स्नातकोत्तर महाविद्यालय है। उन्होंने कहा कि  इस नये विधि भवन से महाविद्यालय को ओर अधिक सुविधा प्राप्त होगी। उन्होंने कहाँ आज हमारी बेटियाँ किसी से कम नहीं हैं। हर क्षेत्र में अपने परिवार, प्रदेश एवं देश का नाम रोशन कर रही है। सांसद श्री शेजवलकर ने कार्यक्रम में कहा कि महाविद्यालय को ओर बेहतर बनाने में कोई कमी नही छोड़ेंगे

बाढ़ प्रभावित परिवारों को जिला प्रशासन ने तात्कालिक राहत के रूप में नि:शुल्क राशन, मसाले एवं नए कपड़े मुहैया कराए

कलेक्टर ने की दानदाताओं से अपील, बाढ़ प्रभावित परिवारों को साफ-सुथरे और नए कपड़े ही वितरित करें

जिले में पिछले दिनों हुई अतिवृष्टि एवं बाढ़ से प्रभावित परिवारों को जिला प्रशासन द्वारा राज्य शासन के दिशा-निर्देशों के तहत राहत मुहैया कराई गई है। बाढ़ प्रभावित परिवारों को तत्कालिक रूप से जिला प्रशासन द्वारा 50 – 50 किलो नि:शुल्क खाद्यान्न, केरोसिन, मसाले, नए कपड़े, बांस-बल्ली व तिरपाल इत्यादि सामग्री उपलब्ध कराई गई है। साथ ही जिन लोगों के सामान का नुकसान हुआ है, उन्हें तात्कालिक रूप से 5 हजार और जिनके मकान क्षतिग्रस्त हुए हैं उन्हें तात्कालिक रूप से 6 हजार रूपए की आर्थिक राहत भी दी गई है।
    बाढ़ प्रभावित परिवारों की मदद के लिये जिले के समाजसेवी एवं स्वयंसेवी संगठन भी आगे आए हैं। इनके द्वारा भी अपने स्तर पर बाढ़ प्रभावित परिवारों को विभिन्न प्रकार की सामग्री उपलब्ध कराई जा रही है। समाजसेवी एवं स्वयंसेवी संस्थाओं द्वारा दी जा रही सहायता में जिला प्रशासन का कोई दखल नहीं है। यह दान लेने वाले और दान देने वाले की सहमति के आधार पर हो रहा है। फिर भी कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने बाढ़ प्रभावित परिवारों की सहायता के लिए आगे आईं निजी संस्थाओं से अपील की है कि वे बाढ़ प्रभावित परिवारों को अच्छी गुणवत्ता की सामग्री और साफ-सुथरे व यथासंभव नए कपड़े ही प्रदान करें।
    कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने बताया कि राज्य शासन के दिशा-निर्देशों के तहत जिले में बाढ़ से हुए नुकसान का सर्वे का काम भी अंतिम चरण में है। जिन लोगों के मकान बाढ़ से पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गए हैं उन्हें आरबीसी के प्रावधानों और मनरेगा के तहत एक लाख 20 हजार रूपए की कुल आर्थिक सहायता नए मकान बनाने के लिए मुहैया कराई जायेगी। इसी प्रकार फसल नुकसान का भी सर्वेक्षण कराया गया है। आरबीसी के प्रावधानों के अनुसार फसल नुकसान के लिये भी आर्थिक राहत जल्द ही वितरित की जायेगी।

राज्यपाल मंगुभाई पटेल ने ग्वालियर दुर्ग स्थित तेली का मंदिर, सास-बहू मंदिर के साथ ही राजा मानसिंह महल का किया अवलोकन

 

राज्यपाल श्री मंगुभाई पटेल ने ग्वालियर किले पर स्थित ऐतिहासिक एवं पुरातत्व महत्व के मंदिर व महलों को देखा और उनकी सराहना की। राज्यपाल श्री पटेल शुक्रवार को ग्वालियर प्रवास के दौरान शाम को ग्वालियर दुर्ग पहुँचे।
    राज्यपाल श्री मंगुभाई पटेल ने ग्वालियर किले पर स्थित तेली का मंदिर, सास बहू का मंदिर, अस्सी खम्बों की इमारत तथा राजा मानसिंह महल का अवलोकन किया। इस मौके पर संभागीय आयुक्त श्री आशीष सक्सेना, आईजी श्री अविनाश शर्मा, कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह सहित प्रशासनिक अधिकारी उपस्थित थे।
    राज्यपाल श्री मंगुभाई पटेल को भ्रमण के दौरान शासकीय गाइड श्री सुरेश चौरसिया ने तेली का मंदिर, सास-बहू का मंदिर तथा अस्सी खम्बों की इमारत के साथ ही राजा मानसिंह महल के पुरातत्व और ऐतिहासिक महत्व के संबंध में विस्तार से जानकारी दी। राज्यपाल ने भ्रमण के दौरान ग्वालियर दुर्ग के पुरातात्विक महत्व और ऐतिहासिक महत्व के बारे में भी विस्तार से जानकारी ली। उन्होंने इस ऐतिहासिक इमारतों और मंदिरों को देखकर प्रसन्नता व्यक्त की।
    केन्द्रीय पुरातत्व विभाग के अधिकारियों ने राज्यपाल को बताया कि ग्वालियर दुर्ग पर राष्ट्रीय पुरातत्व विभाग और राज्य पुरातत्व विभाग के ऐतिहासिक महल एवं मंदिर स्थित हैं, जिनकी देखरेख दोनों ही संस्था द्वारा की जा रही है। उन्होंने यह भी बताया कि ग्वालियर दुर्ग पर ही ऐतिहासिक संग्रहालय भी स्थित है। इस संग्रहालय में वेशकीमती पुरा संपदा मौजूद है

मंगलवार, 24 अगस्त 2021

भाजपा का राष्ट्रीय स्वास्थ्य स्वयंसेवक अभियान प्रशिक्षण वर्ग सम्पन्न, *"कोराना मुक्त व वैक्सीन युक्त" बनाएंगे भाजपा के स्वास्थ्य स्वयंसेवक

 

कोरोना की तीसरी लहर के प्रभाव को रोककर आम जनता को स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराने के लिए भारतीय जनता पार्टी विश्व का सबसे बड़ा राष्ट्रीय स्वास्थ्य स्वयंसेवक अभियान संचालित करने जा रही है। इसके अंतर्गत  प्रशिक्षित स्वास्थ्य स्वयंसेवक अपनी सेवाएं प्रदान कर आपदा को रोकने व जनजागरण का कार्य करेंगे। नगर के मंडल वार्डों में भाजपा के प्रशिक्षित कार्यकर्ताओं की टीम सक्रिय रहेगी। यह बात भारतीय जनता पार्टी नगर जिला प्रभारी श्री विष्णु खत्री ने राष्ट्रीय स्वास्थ्य स्वयंसेवक अभियान के एक दिवसीय प्रशिक्षण वर्ग में कही। 

सह मीडिया प्रभारी दिनेश जाटवा के अनुसार  श्री खत्री ने कहा कि आज देश के सबसे साक्षर प्रदेश केरल में कोरोना के दस हजार से अधिक मरीज मिल रहे है वंही  मध्यप्रदेश में मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान के द्वारा उठाए गए कदमों व निर्णयों के कारण कोरोना नियंत्रण में है ।  कोरोना काल में 135 करोड़ की आबादी में 80 करोड़ लोगों तक खाद्यान्न देने का कार्य अगर किया है तो वो मोदी जी ने किया है । यह प्रधानमंत्री श्री मोदी की दूरगामी सोच का ही परिणाम है कि देश में स्वदेशी वैक्सीन के माध्यम से अब तक करीब 55 करोड़ लोगों का वैक्सीनेशन हो चुका है।  आने वाले दिनों में यदि तीसरी लहर आती है तो उसके लिए भी हम हर प्रकार से तैयार रहेंगे। आज यह प्रशिक्षण इसीलिए आयोजित किया गया है ।
प्रशिक्षण वर्ग को सम्बोधित करते हुए नगर अध्यक्ष श्री विवेक जोशी ने कहा कि उक्त अभियान में शामिल स्वास्थ्य स्वयंसेवक का कार्य कोरोना कि यदि आपदा आती है तो आम जनता को स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराने का होगा । नगर के 9 मण्डलों में प्रत्येक मंडल में 4-4 स्वास्थ्य स्वयंसेवक बनाये गये है  । उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की पंचनिष्ठाओं पर ही हमारी सारी योजनाएं बनती है हमारी विचारधारा के कारण ही भाजपा को अन्य दलों से अलग बनाती है । इस दौरान कार्यक्रम में विशेष रूप से विधायक श्री पारस जैन उपस्थित थे । उन्होंने कहा कि योग को अपने जीवन में उतारना बहुत आवश्यक है । योग ही निरोगी काया रख सकता है साथ ही मास्क का उपयोग भी करना है । अभियान के जिला संयोजक श्री अमित श्रीवास्तव ने स्वास्थ्य स्वयंसेवकों की भूमिका विषय पर सत्र को सम्बोधित किया । इस अवसर पर योगाचार्य मिलिंद्र त्रिपाठी ने रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने संबंधी जानकारी देकर प्रशिक्षण दिया साथ ही उन्होंने स्वास्थ्य स्वयंसेवकों को योग एवं आसन का प्रशिक्षण दिया। कोरोना काल मे  स्वास्थ्य स्वयंसेवकों की सोशल मीडिया पर सकारात्मक भूमिका व तकनीकी की विस्तार विषय पर श्री खगेश सेंगर ने प्रशिक्षण वर्ग में सत्र को संबोधित किया ।  
कार्यक्रम में प्रशिक्षण वर्ग प्रभारी श्री अमित श्रीवास्तव, डॉ अनिल सर्राफ, श्री संजय अग्रवाल,  श्री खगेश सेंगर, श्री अजय तिवारी, पर्वतसिंह जाट, राजकुमार बंशीवाल, मनीष चौहान , जितेंद्र कुमावत, परेश कुलकर्णी सहित कार्यकर्ता उपस्थित थे । प्रशिक्षण वर्ग का संचालन श्री सुरेश गिरी ने किया ।
प्रशिक्षण वर्ग के पश्चात नवनियुक्त प्रदेश प्रवक्ता श्री राजपालसिंह सिसोदिया, डॉ सनवर पटेल, सह मीडिया प्रभारी श्री सचिन सक्सेना, किसान मोर्चा प्रदेश मंत्री श्री भंवरसिंह चौधरी, अंत्योदय प्रकोष्ठ प्रदेश संयोजक श्री रामेश्वर दुबे, अल्पसंख्यक मोर्चा प्रदेश मंत्री श्री मुर्तजा अली बड़वाहवाला, महिला मोर्चा प्रदेश उपाध्यक्ष श्रीमती मीना जोनवाल, अपेक्षा शुक्ला, अनुसूचित जाति मोर्चा प्रदेश उपाध्यक्ष श्री मुकेश ततवाल, प्रदेश मंत्री श्री विक्रम गोंदिया का स्वागत सम्मान किया गया । 

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *